लिंग लम्बा मोटा करने की दवा | Ling Lamba Mota Karne Ki Dawa

लिंग लम्बा मोटा करने की दवा  | Ling Lamba Mota Karne Ki Dawa 


सच बात ये है कि किसी दवा, तेल या कैप्सूल से लिंग लम्बा नही होता । कुछ तेल से लिंग हल्का मोटा जरूर हो जाता है महीनो के इस्तिमाल से लेकिन लम्बा एक इंच भी नही होगा।

बस पेनिस पंप दो से 3 तीन महीने इस्तिमाल करने से लिंग 1 से इंच लम्बा हो सकता है बाकी उसके साइड इफेक्ट्स भी हैं।
 आज कल इंटरनेट पर बहुत से फ़र्ज़ी प्रोडक्ट जैसे हैमर थॉर, ayur69,  xxxl या इससे मिलते जुलते।
इन सब दवाओं को भूलकर भी ना ख़रीदे क्योंकि इनसे आप लिंग बाल बराबर भी लम्बा नही होगा चाहे ज़िन्दगी भर खा लेना। क्योंकि दुनिया मे आज तक लिंग लम्बा करने वाली कोई दवा नही बनी है।
इसलिए लिंग लम्बा मोटा करने के चक्कर में अपने पैसे व वक़्त बर्बाद न करे।

अगर आपका लिंग खड़े होकर 3 से 5 इंच तक है तो ये बीवी को सन्तुष्ट करने के लिए काफी है।

हम निम्न बीमारियों की दवा देते हैं।
मंगवाने व लेने के लिए सम्पर्क करें।

1. जल्दी झड़ने               
2. लिंग खड़ा व टाइट न होने
3. किसी भी तरह की सेक्स कमज़ोरी
4. मर्दाना कमज़ोरी
5. सेक्स करने का जी ना होना।
6. सेक्स में पूरा मज़ा ना आना
7. वीर्य के पतलेपन को दूर करके  गाढ़ा करना
8. सेक्स टाइम बढ़ाना।
9. ज्यादा हस्टमैंथुन से आ  सेक्स कमज़ोरी
10. सेक्स में पूर्ण सन्तुष्टि ना मिलना
11 सेक्स स्टैमिना बढ़ाने के लिए।
इन सब की दवा हमारे 40 साल पुराने क्लिनिक से इंडिया में सभी शहरों में भेजी जाती है। भेजने का कोई चार्ज नहीं।
इनके लिए हम उन बेशकीमती व दुर्लभ जड़ी बूटियों से दवा तैयार करके देते हैं जिनका इस्तिमाल राजा महाराजा अपनी 10- 10 रानियों को सेक्स में संतुष्ट करने के लिए किया करते थे।


अगर आप भी शीघ्रपतन यानि जल्दी झड़ना , वीर्य  जल्दी गिरना  की समस्या से परेशान है तो इसके लिए हम आपको एक ऐसे क्लिनिक व आयुर्वेदिक व यूनानी दवाखाने के बारे में बताने  जा रहे हैं  जो भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त व  दिल्ली एनसीआर में 40 पुराना व मशहूर है।  केवल 890 में इसका इलाज किया जाता है। 


ज्यादा जानकारी के लिए नीचे फोटो या लिंक पर क्लिक कीजिये 
7827993456
                   

                 





Whatsapp no 7290867087
https://www.shighrapatanilajdawa.com/2019/02/shighrapatan-ka-ilaj_7.html shighrapatan ki dawa shighrapatan ki medicine