Posts

Showing posts from February, 2020
Image
हस्तमैथुन  की लत को छोडने के 10 प्रेक्टिकल तरीके - जैसा कि आप जानते है कि हमने  हस्तमैथुन  की लत के ऊपर एक सीरीज चला रखी है । बीते 2 हफ्तो मे हमने हस्तमैथुन से सम्बन्धित ( Raleted ) काफी कुछ शेयर किया है जैसे- हस्तमैथुन के नुकसान (  hastmaithun se nuksan  ) ,  हस्तमैथुन से जुडे सवाल और जबाव , हस्तमैथुन पर क्या कहते है लोग ? हस्तमैथुन कब और क्यो करते है  | उसी तरह आज का हमारा topic है  हस्तमैथुन करना करना कैसे छोडे   उसी के ऊपर हमने आज कि ये पोस्ट  हस्तमैथुन की लत को छोडने के 10 प्रेक्टिकल तरीके  तैयार कि है | तो अगर आप जानना चहाते है कि  हस्तमैथुन  की लत को कैसे छोडे तो आज आप बिल्कुल सही पोस्ट पर है  | हम आपको इस पोस्ट मे वो सभी तरीके बताएगे जो आपको इस लत से निकलने के लिए Helpfull साबित हो सकते है इसलिए इस पोस्ट को शुरी से अन्त ( Last ) तक पुरे ध्यान के साथ पढिए मै 100% गारंटी के साथ कहता हू कि अगर आप इस पोस्ट मे बताए गए तारीके को सही से follow करेगे तो कुछ ही महीनो के अन्दर  इस लत से बहार निकल जाएगे | हस्तमैथुन की लत को छोडने 10 प्रेक्टिकल तरीके  दोस्तो होता क्या है कि हम

वीर्य का पतलापन

Image
आज के समय में पुरुषों में वाटरी सीमेन की समस्या एक आम समस्या है, जो पुरुषों की प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकती है। पानी जैसे पतले वीर्य के उत्पादन के अनेक कारण हो सकते हैं, कुछ कारण अस्थाई होते हैं जिनके इलाज की आवश्यकता नहीं होती है। जबकि कुछ स्थितियों में गंभीर स्वास्थ्य समस्याएँ, पानी जैसे पतले वीर्य का कारण बन सकती हैं। अतः पानी जैसे पतले वीर्य की समस्या उत्पन्न होने पर व्यक्ति को स्वास्थ्य सलाहकार से परामर्श लेना चाहिए। पानी जैसा पतला वीर्य क्या है वाटरी सीमेन (Watery semen) एक पुरुष प्रजनन अंग से सम्बंधित समस्या या बीमारी है इस स्थिति में वीर्य में कम मात्रा में शुक्राणु उपस्थित होते हैं और वीर्य पानी की तरह पतला होता है। वीर्य, स्खलन के दौरान पुरुष मूत्रमार्ग के माध्यम से निकलने वाला सफ़ेद, गाढ़ा द्रव होता है। यह प्रोस्टेट ग्रंथि और अन्य पुरुष प्रजनन अंगों से शुक्राणु और तरल पदार्थ के परिवहन का कार्य करता है। हालांकि, अनेक स्थितियां वीर्य के रंग और गाढ़ेपन में बदलाव कर सकती हैं। पानी जैसे पतले वीर्य की स्थिति अधिकांशतः अस्थायी होती है, और अपने आप दूर हो सकती है। पानी

संभोग का मन न होना

Image
आज के समय में जीवन बहुत अधिक भागदौड़ वाला हो गया है| हर कोई इतना काम कर रहा है की उसे अपनी पर्सनल लाइफ के लिए समय ही नहीं है| वो केवल और केवल कम कर रहा है| ऐसे में सेक्स से अरुचि होने लग जाती है, सेक्स से इन्सान दूर भागने लगता है और उसका सेक्स में दिल नहीं लगता है| इसे कहते है सेक्सुअल अवर्शन डिसऑर्डर यानी की सेक्स में अरुचि| इसकी वजह- बहुत अधिक काम बहुत अधिक काम इसकी सबसे पहली वजह निकलकर सामने आती है| एक पार्टनर जब पूरा दिन काम करता है तो वो शारीरिक और मानसिक रूप से पूरी तरह से थक जाता है और ऐसे में वो सेक्स के बारे में सोचना ही छोड़ देते है| डिसऑर्डर की ये एक बहुत बड़ी वजह है| शारीरिक कमजोरी जब एक पार्टनर को कोई शारीरिक कमजोरी होती है या फिर सेक्स करने में हिचक होती है तो वो सेक्स से दूर भागता है| लिंग में उत्तेजना का ना होना, वीर्य का ना निकलना आदि ये वजहे है जिनसे इन्सान सेक्स से भागने लगता है| पार्टनर में रूचि नहीं सेक्स के दौरान ये बहुत जरूरी है की आपका पार्टनर आपको पसंद आये और उसमे आपकी रूचि हो और तभी सेक्स बेहतर हो सकता है| लेकिन जब आपकी रूचि पार्टनर में नहीं ह

धात व जिरयान व चिपचिपा पानी आना

Image
धात रोग का प्रमुख कारण क्या है ?  जब भी किसी पुरुष के मन में काम या सेक्स की भावना बढ जाती है! तो लिंग अपने आप ही कड़ा हो जाता है और उसका अंग  उत्तेजना की अवस्था में आ जाता है! इस अवस्था में व्यक्ति के लिंग से पानी के रंग के जैसी पतली लेस के रूप में निकलने लगती है! लेस बहूत कम होने के कारण ये लिंग से बाहर नहीं आ पाती है, लेकिन जब व्यक्ति काफी अधिक देर तक उत्तेजित रहता है तो ये लेस लिंग के मुहँ के ऊपरी हिस्से में आ जाता है जिस को की Male G Spote कहा जाता है  आज के युग में अनैतिक सोच और अश्लीलता के बढ़ने के कारण आजकल युवक और युवती अक्सर अश्लील फिल्मे देखते और पढते है तथा गलत तरीके से अपने वीर्य और रज mani को बर्बाद करते है! अधिकतर लड़के-लड़कीयां अपने ख्यालों में ही शारीरिक संबंध बनाना भी शुरू कर देते है! जिसके कारण उनका लिंग अधिक देर तक उत्तेजना की अवस्था में बना रहता है, और लेस ज्यादा मात्रा में बहनी शुरू हो जाती है! और ऐसा अधिकतर होते रहने पर एक वक़्त ऐसा भी आता है! जब स्थिति अधिक खराब हो जाती है और किसी लड़की का ख्याल मन में आते ही उनका लेस (वीर्य) बाहर निकल जाता है, और उनकी उत्तेजना श