शीघ्रपतन


शीघ्रपतन : कारण, लक्षण व उपचार 

क्या होता है शीघ्रपतन (Shighrapatan)?
प्रीमैच्योर इजेकुलेशन जिसे हिंदी में शीघ्रपतन (Shighrapatan) या बोलचाल की भाषा में early discharge भी कहा जाता है बहुत ही कॉमन प्रॉब्लम है और सामान्यतः दुनिया भर के 30 से 40% पुरुषों में पाई जाती है. अमेरिका में The National Health and Social Life Survey (NHSLS) में पाया गया कि वहां के 30% adult males शीघ्रपतन से ग्रसित हैं. ये भी माना जाता है कि हर पुरुष अपने जीवन काल में कभी न कभी शीघ्रपतन की समस्या से ग्रस्त होता है.
इसलिए अगर आप इस समस्या से परेशान हैं तो खुद को अकेला मत समझिये, आप अकेले नहीं जूझ रहे बल्कि एक-तिहाई पुरुष जाति आपके साथ है.
लेकिन, चूँकि लोग इस बारे में openly किसी से बात नहीं करते इसलिए उन्हें लगता है कि बस वे ही इससे परेशान हैं.
शीघ्रपतन 4  तरह का होता है।

1. जब आपका विर्य लड़की को किस करते समय या फोरप्ले करते समय ही निकल जाता है या टच करने से ही निकल जाता है तो इसको हाइपर सेक्सयूएललिटी वाला शीघ्रपतन कहते है। इसमे शरीर व दिमाग मे सेक्स की गर्मी व इच्छा बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। ये शीघ्रपतन आम तौर से 15 से 25 साल के लोगो मे ज्यादा पाया जाता है। इसमे सेक्स के बारे में सोचने से ही चिपचिपा पानी बहने लगता है

2.  दूसरा शीघ्रपतन में किस करने से तो विर्य नही निकलता बल्कि किस करने से बहुत जल्द लिंग से पानी जैसा चिपचिपा जैसा निकलने लगता है और बहने लगता है और जब आप योनि में लिंग डालते हो तो फौरन लिंग डालते ही आपका विर्य झड़ जाता है।
यानी योनि में डालते ही झड़ जाता है। या कभी कभी मुश्किल से 5 धकके मारते ही झड़ जाता है। धीरे धीरे करते है तो मुश्किल से 15 धकके ही मार पाते है और आपका विर्य झड़ जाता है। ये शीघ्रपतन ज्यादातर 20 से 30 साल के लोगो मे पाया जाता है।


3. तीसरा टाइप शीघ्रपतन वो जब आपका लिंग योनि में डालने के बाद कम से  30 सेकण्ड से 1 मिनट तक ही चल पाता है या कभी कभी मुश्किल से दो मिनट हो जाता है। ये नॉर्मल वाला शीघ्रपतन है जो 20 से 40 साल तक के लोगो मे पाया जाता है।

4. इसमे ऐसा होता है कि न लिंग बहुत जोर देने पर और इच्छा करने पर थोड़ा सा खडा होता है और खड़े होने के बाद योनि में डालने के 1 मिनट के अंदर गिर जाता है। इसमे लिंग भी न खड़े होने और शीघ्रपतन होने की दोनो समस्या होती है। ये ज्यादातर 35 साल से 60 साल के लोगो मे पाया जाता है।


ऊपर दिए गए चारो तरह के शीघ्रपतन का ईलाज दिल्ली एनसीआर में मशहूर 40 साल पुराने क्लिनिक व दवाखाने में मात्र 890 से 990 रुपये में किया जाता है।
एक महीना की दवा व नुस्खा केवल 890 से 990 में दिया जाता है। इलाज एक से दो महीने होता है और असर समस्या के अनुसार 5 से 10 दिन में।
डॉक्टर से सलाह लेने व दवा लेने के लिए नीचे Whatsapp के निशान पर क्लिक कर करें।



आयुर्वेद व यूनानी जड़ी बूटी के माहिर मशहूर  वैद्यो व हकीमो का कहना है किसी आदमी की जन्म से सेक्स पावर व सेक्स टाइमिंग कमज़ोर नही होती। बचपन की गलतियों के कारण आदमी खुद अपने हाथ से अपनी सेक्स पावर बर्बाद कर देता है।
गन्दी फिल्में देखकर, ज्यादा हस्तमैथुन करके, हानिकारक चीज़ो का सेवन करके मज़े मज़े में अपनी जवानी बर्बाद कर लेता है। 
अब जब वो शादी के बाद या पहले सेक्स करता है तो उसको पता चलता है कि उसकी सेक्स पावर व सेक्स टाइम बिल्कुल खत्म है। या बहुत कम है। जिसकी वजह से उसकी बीवी उससे सन्तुष्ट नही होती।
लेकिन अब ऐसे लोगो को घबराने की जरूरत नही है क्योंकि हज़ारो सालों से आयुर्वेद व यूनानी जड़ी बूटियों में इसका इलाज बिल्कुल आसान है।
हज़ारो सालों से राजा महाराजा इन जड़ी बूटी का सेवन करके 10- 10 रानियों को सन्तुष्ट करते रहे हैं।
इसके लिए हमने अपने 40 साल पुराने आयुर्वेद व यूनानी क्लिनिक व दवाखाने आपके लिए हज़ारो साल पुरानी व दुर्लभ आयुर्वेदिक व यूनानी जड़ी बूटियों पर काफ़ी रिसर्च करके सेक्स पावर कोर्स तैयार किया है। इसको खाने के बाद कोई भी आदमी अपनी सेक्स पावर व सेक्स टाइम दोबारा बढ़ा सकता है बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के। इसका कोई गलत साइड इफ़ेक्ट नही है।
अगर किसी आदमी का योनि में डालते ही या 2 से 3 धक्के मारते ही झड़ जाता है व पानी गिर जाता है तो उनकी सेक्स टाइमिंग को ये कई गुना बढ़ा देता है व आपकी बीवी आपसे खुश हो जाती है और सेक्स का पूरा मज़ा खुद भी उठा सके व अपनी बीवी को भी चरम आनंद दे सके।  क्योंकि इसी वजह से आज कल तलाक़ के केस बढ़ रहे हैं व बीवी दूसरे मर्दो के चक्कर में पड़ने लगती है और इसके जिम्मेदार आप होते हैं 


डॉक्टर्स का मानना है कि यदि पुरुषों का intravaginal ejaculatory latency time (IELT) यानि योनी में लिंग जाने के बाद और वीर्य स्खलन होने के बीच का समय :
▪ 1 मिनट से कम है तो पुरुष क Premature Ejaculation है.
▪ 1 से डेढ़ मिनट है तो “probable” Prema Ejaculation है.
कई मामलों में शीघ्रपतन की समस्या इतनी बढ़ जाती है कि पुरुष vaginal intercourse शुरू होने से पहले ही इजैक्युलेट कर देता है या सेक्स शुरू होने के फ़ौरन बाद ही उसका sperm discharge हो जाता है.
वैसे तो Shighrapatan की समस्या को पुरुष-महिला संबंधों से जोड़ कर ही देखा जाता है लेकिन कुछ डॉक्टर्स हस्तमैथुन के दौरान भी early discharge होने को शीघ्रपतन से जोड़ कर देखते हैं.

शीघ्रपतन के लक्षण क्या हैं?
▪बार-बार प्रयास करने पर भी सेक्स के दौरान ejaculation को 1 मिनट तक ना रोक पाना
सेक्स को टालना
▪Sex करने के बाद एक guilt feeling का होना कि आप partner को संतुष्ट नहीं कर पाए
▪सेक्स करने से पहले मन में शीघ्रपतन का डर आना

शीघ्रपतन के प्रकार :
शीघ्रपतन दो प्रकार का होता है:
1. लाइफ लॉन्ग (प्राइमरी):
यह व्यक्ति को शुरू से लेकर अंत तक रहता है. यानि early discharge की प्रॉब्लम पहली बार सेक्स करने से लेकर जब तक वह सेक्स करता है तब तक बनी रहती है.

2. एक्वायर्ड (सेकेंडरी) :
इस मामले में पहले व्यक्ति नॉर्मल तरीके से ejaculate करता है लेकिन बाद में उसे शीघ्रपतन की शिकायत शुरू हो जाती है.

Note:
बहुत से लोगो को लगता है कि उन्हें प्रीमैच्योर इजैकुलेशन की प्रॉब्लम है, लेकिन diagnostic criteria के हिसाब से वास्तव में ऐसा नहीं होता.

शीघ्रपतन के कारण :
अभी तक शीघ्रपतन का सटीक कारण पता नहीं लगाया जा सका है. जहाँ पहले इसे एक psychological problem समझा जाता था वहीँ अब इसे psychological और biological factors का combined effect माना जाता है.
Premature ejaculation (PE) इन कारणों से हो सकता है:
▪ सेक्स करने का अनुभव ना होना
▪ नए पार्टनर के साथ सेक्स करने पर PE हो सकता है
▪ कुछ विशेष positions में सेक्स करने पर भी PE हो सकता है
▪ बहुत दिनों के बाद सेक्स करने पर प्रीमैच्योर इजैकुलेशन की स्थिति आ सकती है
▪ फीमेल पार्टनर को संतुष्ट करने की टेंशन
▪ स्ट्रेस या चिंता, ये सम्भोग या किसी अन्य समस्या को लेकर भी हो सकती है
▪ डिप्रेशन
▪ किसी दवा का साइड इफ़ेक्ट
▪ पेनिस के स्किन का हाइपर सेंसिटिव होना ( ऐसे मामलो में numbing creams मददगार होती हैं)
▪ लड़कपन में पकड़े जाने के डर से जल्दबाजी में किया गया सेक्स बाद में भी PE cause कर सकता है
▪ मन में सेक्स को लेकर guilt feeling होना कि ये गन्दी चीज है
▪ इस बात की चिंता होना कि सेक्स के दौरान पेनिस देर तक खड़ा नहीं रह पायेगा,
▪ संबंधों में समस्या:
यदि आप पहले किसी और के साथ सेक्स करते समय PE नहीं होता था, तो संभव है कि current partner के साथ आपके संबधों में कोई दिक्कत है, जिससे ये समस्या आ रही है.
▪ हार्मोनल प्रॉब्लम
▪ ब्रेन केमिकल्स का एब्नार्मल लेवल
▪ Ejaculatory system की abnormal reflex activity
▪ कुछ थाइरोइड सम्बन्धी समस्याएं
▪ प्रोस्टेट या मूत्रमार्ग में सूजन या संक्रमण
▪ अनुवांशिक कारण
▪ सर्जरी या आघात के कारण नसों में हुई क्षति
▪ डायबिटीज
▪ हाई ब्लड प्रेशर
▪ प्रोस्टेट डिजीज
▪ Multiple sclerosis
नोट: शीघ्रपतन को एक समस्या तभी माने जब ये बार-बार हो. कभी-कभार होना नॉर्मल है.

1. शीघ्रपतन का घरेलू व आयुर्वेदिक उपचार :
i)) 5 ग्राम अश्वगंधा पाउडर लेकर उसमें बराबर मात्रा में मिश्री मिलाएं और गुनगुने दूध के साथ सुबह शाम लें. कुछ समय तक लगातार लेने से फायदा होगा.

ii) 4-4 ग्राम मूसली पाउडर सुबह शाम खाने के बाद दूध से लेने इससे वीर्य गाढ़ा होता है जिससे शीघ्रपतन में आराम मिलता है.
iii) आयुर्वेद की अनेक औषधियां शीघ्रपतन में काम ली जाती है जैसे मकरध्वज, कामिनी विद्रावण रस, अश्वगंधा चूर्ण, जाती फलादि चूर्ण, चंदनादि चूर्ण, चन्दनासव. यह सभी आयुर्वेदिक विशेषज्ञों की देखरेख में ही ली जानी चाहिए.

2. काउंसलिंग
कई बार शीघ्रपतन के रोगी के मन में अनेक भ्रम एवं भ्रांतियाँ होती हैं उन्हें काउंसलिंग द्वारा ही दूर किया जा सकता है तथा रोगी के मन में व्याप्त भय एवं चिंता काउंसलिंग के माध्यम से दूर की जा सकती है.
Note:
फीमेल पार्टनर को इलाज के दौरान आदमी का पूरा साथ देना चाहिए और उसके खोये आत्मविश्वास को जगाने के लिए सेक्स का पूरा आनंद ना मिलने पर भी complaint नहीं करनी चाहिए.

3) बिहेवियरल थेरेपी
कई रोगियों में बिहेवियरल थेरेपी बहुत फायदेमंद साबित होती है:
i) हस्तमैथुन: इसमें सेक्स करने से 2 घंटा पहले हस्तमैथुन करने की सलाह दी जाती है जिससे सेक्स करते समय अर्ली डिस्चार्ज नहीं हो पाता है किंतु कई मामलों में इससे सेक्स की इच्छा एवं उत्तेजना कम हो जाती है.
Related: हस्तमैथुन: फायदा, नुक्सान और अफवाहें
ii) एक्सरसाइज
शीघ्रपतन के लिए डॉक्टर विशेष एक्सरसाइज बताते हैं जो काफी कारगर साबित हो सकती है.
a) Start एंड Stop तकनीक.
b) Squeeze तकनीक
c) Kegal Exercise or Pelvic floor exercises.
d) कंडोम का प्रयोग.

4) योग प्राणायाम
योग प्राणायाम वैसे भी संपूर्ण शरीर के लिए फायदेमंद है किंतु शीघ्रपतन की चिकित्सा में इससे विशेष लाभ मिलता है. जैसे – वज्रासन, मंडूकासन, शीर्षासन आदि.

5) आधुनिक चिकित्सा
उपरोक्त उपायों से समाधान ना होने पर आधुनिक चिकित्सा ली जा सकती है जिसमें आपको डॉक्टर से मिलकर सही दवाएं लेनी होती हैं. हालांकि, officially शीघ्रपतन के लिए कोई दवा नहीं बतायी गयी है लेकिन कुछ antidepressants को इसमें कारगर पाया गया है.
इसके अलावा कुछ local anesthetic क्रीम जैसे कि- lidocaine and prilocaine, भी आती हैं जो सेक्स करने से पहले पेनिस पर लगाने से early discharge की समस्या में मदद मिलती है. लेकिन लम्बे समय तक इनका इस्तेमाल करने से लिंग erect होना बंद कर सकता है.

अंत में बस इनता याद रखिये –
शीघ्रपतन एक आम समस्या है जिसका पूरी तरह से इलाज किया जा सकता है!